इंडियन आइडल के टॉप-11 में हिमाचल का बेटा, जीत के लिए कुलदेवता से प्रार्थना

Indian-Idol-Ankush-Bhardwaj

कोटगढ़ के अंकुश भारद्वाज इंडियन आइडल के टॉप-11 में पहुंच गए हैं। टॉप-11 में पहुंचने पर क्षेत्र के लोगों में खुशी है। टीवी पर अंकुश को गाता देखने के लिए लोग उत्सुक हैं। हालांकि, आगे का सफर तय करने के लिए अंकुश को आपके वोट की जरूरत पड़ेगी।

निशांत ठाकुर, चाचा रणधीर शर्मा ने बताया कि लोगों के वोट से अंकुश की राह आसान हो सकती है। उन्होंने लोगों से अंकुश के लिए अधिक से अधिक वोट करने की अपील की है। इधर, कुल देवता चतुर्मुख देवता, नाग देवता खाचली और हाटु मंदिर में अंकुश के लिए पूजा-अर्चना की जा रही है। ठाकुर ने बताया कि अंकुश की घर वापसी पर सम्मान समारोह करवाया जाएगा। माता-पिता को भी सम्मान दिया जाएगा। हिमाचल के लोग वोटिंग कर अंकुश भारद्वाज का हौसला बढ़ा रहे हैं। अंकुश अभी इंडियन आइडल के टॉप-11 में हैं। उनकी आवाज को सोनू निगम ने भी सराहा है।

अंकुश ने एमबीए फाइनेंस की पढ़ाई करने के बाद संगीत को कॅरियर बनाया है। वे अब इसी क्षेत्र में कॅरियर बनाना चाहते हैं। अंकुश आजकल मुंबई में बॉलीवुड म्यूजिक डायरेक्टर अमाल मलिक के साथ बतौर असिस्टेंट काम कर रहे हैं।  अंकुश भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश के लोगों के प्यार और परिजनों तथा अभिभावकों के आशीर्वाद से टॉप-11 में हैं। अगर लोगों का आशीर्वाद ऐसा ही बना रहा तो वे खिताब जीतकर ही लौटेंगे।

बीमारी के कारण अंकुश की आंखों की रोशनी धीरे-धीरे कम होती जा रही है। अंकुश ने कहा कि यदि आंखों की रोशनी चली भी जाती है तो संगीत को नहीं छोड़ूंगा। अंकुश हिमाचल की आवाज, 90.2 बिग एफएम गोल्डन वॉयस, विंटर कार्निवाल, रफी नाइट, किशोर नाइट, संगम सुर संगीत में भी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। अंकुश ने क्लासिकल संगीत की शिक्षा चन्ना म्यूजिक अकादमी में विदोन चन्ना से ली है और संगीत की प्रारंभिक शिक्षा पिता सुरेश भारद्वाज से प्राप्त की।

Please follow and like us:
error

Related posts

Leave a Comment