हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल ने तीन साल पूरा करने वाले अनुबंध कर्मचारियों को नियमित करने का किया फैसला

contract employees himachal

हिमाचल में तीन साल पूरे कर चुके अनुबंध कर्मचारियों 31 मार्च के बाद नियमित कर दिया जाएगा । प्रदेश सरकार ने वीरवार को इसकी जानकारी दी। सीएम जयराम ठाकुर ने बजट भाषण में इसकी घोषणा की। मंत्रिमंडल की पिछली बैठक में भी इस पर फैसला ले लिया गया था।

हिमाचल प्रदेश में अनुबंध कर्मचारी साल में दो बार नियमित होते हैं। 31 मार्च और 30 सितंबर को यह अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा करके नियमित किये जाते हैं । कार्मिक विभाग ने 31 मार्च, 2019 और 30 सितंबर, 2019 को तीन-तीन साल का कार्यकाल पूरा करने वाले कर्मचारियों को नियमित करने की अधिसूचना वीरवार को ही जारी की ।

इस दौरान यह भी स्पष्ट रूप से तय किया गया कि यह नियमितीकरण की प्रक्रिया जरूरी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद ही पूर्ण होगी। इसमें मौजूदा रिक्तियों को भी देखा जाएगा। इस प्रक्रिया क लिए आवशयक दस्तावेज जैसे चरित्र प्रमाणपत्र और कर्मचारियों का व्यवहार भी देखा जाएगा। नियमितीकरण की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए एक स्क्रीनिंग कमेटी भी तय होगी। नियमित कर्मचारियों को प्रदेश में पोस्टिंग के लिए कहीं भी भेजा जा सकता है।

इसके साथ ही हिमाचल के सभी विभागों, निगमों, बोर्डों, स्वायत्त संस्थानों में कार्यरत हजारों अंशकालिक कामगारों और दिहाड़ीदारों के मानदेय और दिहाड़ी में बढ़ोतरी की अधिसूचना भी जारी की गई। इन सबकी बढ़ी हुई दरें एक अप्रैल से लागू होेंगी। अंशकालिकों का मानदेय तीन रुपये प्रति घंटे की दर से बढ़ाया गया । राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की बजट घोषणा के बाद इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी है।

Please follow and like us:

Related posts

Leave a Comment