देश के भिन्न-२ राज्यों में होली मनाने के विभिन्न तरीके

holi celebration in india

हमारा देश पुरे विश्व में विविधताओं के लिए विख्यात है। अर्थात यहां कुछ फैसले की दुरी पर ही वहां का बोल चाल, खाना- पीना व वेश-भूषा एकदम अलग हो जाती है। इसी तरह यहां पर कोई भी एक त्योहार मानाने के तरीके हर जगह के अलग अलग होते हैं। तो अभी हम बात करेगें होली की जो की सभी का पसंदीदा त्यौहार होता है, और सभी बच्चे और बड़े इसका बेसब्री से इंतज़ार करते हैं। इसे रंगों और खुशियों का त्योहार कहते हैं । भारत में त्यौहार मनाने का एक…

एक सप्ताह घुंघट में रह कर ये छह देवियां आज भी निभा रही है सदियों पुरानी परंपरा

religious faith himachal

छोटी काशी कहे जाने वाले मंडी में शिवरात्रि के अंतरराष्ट्रीय महोत्सव में यह छह नरोल देवियां आज भी निभा रही हैं सदियों पुरानी परंपरा। ५ मार्च से 11 मार्च तक चलने वाले इस पर्व के लिए हर बार इन छह नरोल देवियों को निमंत्रण भेजा जाता है ।ये छह देवियां बगलामुखी, श्री देवी बूढ़ी भैरवा पंडोह, श्री देवी काश्मीरी माता, श्री धूमावती मां पंडोह, देवी बुशाई माता राज माता कहनवाल व रूपेश्वरी राजमाता न तो जलेब में शिरकत करती हैं और न ही पड्डल मैदान में होने वाले देव समागम…

आर्थिक राशिफल 14 फरवरी: जानें धन और व्यवसाय को लेकर कैसा रहेगा गुरुवार का दिन

financial horoscope

14 फरवरी 2019 के दिन कैसी रहेगी आपकी आर्थिक स्थिति और सितारे किस राशि की चमकाएंगे किस्मत और किसे लाभ पाने के लिए करना होगा थोड़ा इंतजार, मेष  व्यापार में नई तरकीब से फायदा होगा। सुख और धन लाभ के संकेत हैं। नौकरी, व्यवसाय मे शुभ परिवर्तन के चलते घर से दूर रहना पड़ सकता है। प्रयत्नों में सफलता मिलेगी। यात्राओं से भी लाभ मिलेगा। वृष  आज आप शेयर-फंड या निवेश के चक्कर में अधिक रहेंगे। यदि आप जोखिम भरे कामों से धन कमाना चाहते हैं, तो यह उम्मीद आपको…

Lohri 2019 : लो आ गई लोहिड़ी, जानें इस पर्व का महत्व और इतिहास

lohri festival in punjab

जनवरी की सर्द रातों में लकड़ी और तिल के कड़कड़ाने की आवाज आना मतलब लोहड़ी के त्योहार की आमद.. फसल की बुआई और कटाई से जुड़ा यह त्यौहार आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है। मूल रूप से यह पावन पर्व भले ही पंजाबी समुदाय से जुड़ा है, लेकिन विविधताओं से भरे हमारे देश के हर प्रांत में यह बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस देश की यही खूबी है कि यहां हर धर्म के त्योहार दूसरे धर्मों द्वारा भी उतने ही उल्लास के साथ मनाए जाते…

विंटर कार्निवाल का आगाज, माल रोड पर हेलीकॉप्टर से की फूलों की बारिश

manali winter carnival latest news

माता हिडि़ंबा की पूजा-अर्चना के साथ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने झांकियों को हरी झंडी दिखाकर पांच दिन चलने वाले आठवें शरदोत्सव (विंटर कार्निवाल) का शुभारंभ किया। हल्की बूंदाबांदी के बीच लोक वाद्य यंत्रों की धुनों से जुगलबंदी कर माल रोड पर कुल्लू का देहात उतर आया। देश भर की 26 टीमों के साथ ऊझी घाटी के 100 से अधिक महिला मंडलों ने पारंपरिक परिधानों में सज धजकर सर्किट हाउस मनाली से माल रोड तक झांकियां निकालीं। दर्शकदीर्घा में हजारों पर्यटकों और स्थानीय लोगों ने इन पलों को कैमरों में कैद…

त्रिपुरा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने किए बाबा बालक नाथ के दर्शन

cj sanjay karol

उत्तरी भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल बाबा बालक नाथ तपोस्थली मंदिर शाहतलाई में पत्नी संग त्रिपुरा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने दर्शन किए। हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट में भी मुख्य न्यायाधीश रहे संजय करोल ने शुक्रवार को तपोस्थली मंदिर में पत्नी आशू करोल सहित पूजा अर्चना की। नायब तहसीलदार रमेश धीमान और मंदिर न्यास तलाई के प्रभारी सुखदेव सिंह चंदेल ने मुख्य न्यायाधीश को बाबा बालक नाथ की स्मृति चिन्ह भेंट कर इस मौके सम्मानित भी किया। मुख्य न्यायाधीश तीन दिन के दौरे पर हिमाचल प्रदेश आए हैं। इसमें कांगड़ा जिला…

मेले में राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने खुद किया मंत्रोच्चारण, डलवाई आहुतियां

shri renuka fair

ओम भूर्भुव: स्व: तत् सवितुर्वरेण्यं…. के वैदिक मंत्रोच्चारण से शुक्रवार को धार्मिक स्थल श्री रेणुकाजी गूंज उठा। विश्व शांति के लिए मंत्रों का उच्चारण मुख्यातिथि राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने स्वयं किया। माइक के समक्ष उन्होंने मंत्रोच्चारण किया और यज्ञ में आहुतियां भी डलवाईं। इससे श्री रेणुकाजी का वातावरण भक्तिरस में डूब गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय रेणुका उत्सव के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे। श्री रेणुकाजी में पहुंचे आचार्य देवव्रत ने सर्वप्रथम श्री रेणुकाजी और भगवान परशुराम के दर्शन किए। इसके पश्चात भगवान परशुराम के प्राचीन मंदिर…

कालीबाड़ी मंदिर हॉल में महिलाओं ने खेली सिंदूर की होली

sindoor holi kalibari temple shimla

राजधानी शिमला के कालीबाड़ी हॉल में दुर्गा पूजा का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। विजयदशमी के अवसर पर दुर्गा का दर्पण विसर्जन किया गया। हॉल में पानी के बीच एक दर्पण रखकर भक्तों मां के दर्शन किए। वहीं, महिलाओं ने स्वच्छ वस्त्र से मां को पोंछा और लाल साड़ी पहनाकर उन्हें सिंदूर भी लगाया। इसके बाद पश्चिम बंगाल से आईं महिलाओं ने एक दूसरे के साथ सिंदूर की होली खेली। उधर, दोपहर सवा दो बजे के करीब मां दुर्गा, सरस्वती, गणेश, लक्ष्मी और कार्तिक की मूर्तियों को विसर्जन के लिए…

कुल्लू दशहरा: भव्य देव मानस मिलन के दीदार को उमड़ पड़ा आस्था का सैलाब

international kullu dussehra

पारंपरिक वाद्य यंत्रों की मधुर ध्वनि पर झूमते देवलु देवरथों के साथ रथ मैदान में पहुंचे। चांदी व सोने के रथों पर विराजमान सैकड़ों देवी-देवता रथ के इर्द-गिर्द एकत्रित होते रहे। राज वेशभूषा में राजपरिवार के लोग भी पहुंच गए। वहीं, रथ पर सवार भगवान रघुनाथ और जय श्री राम के जयकारों से गूंज उठा। अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा के शुभारंभ मौके पर निकाली गई रथ यात्रा के दौरान रथ मैदान में कुछ ऐसा ही नजारा दिखा। रथ यात्रा के साथ कुल्लू में देवी-देवताओं के महाकुंभ का आगाज हुआ। भगवान रघुनाथ…

यहां होगा देवी-देवताओं का महाकुंभ, निभाई जाएगी 368 साल पुरानी परंपरा

international kullu dussehra 2018

देश-दुनिया में विख्यात अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा महोत्सव का आगाज शुक्रवार को भगवान रघुनाथ की रथ यात्रा के साथ होगा। 250 से ज्यादा देवी-देवता और हजारों लोग इस देव महाकुंभ में शिरकत करेंगे। दोपहर 3.00 बजे रथ मैदान से सभी देवी-देवता अठारह करड़ू के सौह (ढालपुर मैदान) के अस्थायी शिविरों में विराजमान होंगे। सात दिन तक यहां देव कारज में शिरकत करेंगे और श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देंगे। राज्यपाल आचार्य देवव्रत भगवान रघुनाथ की रथयात्रा में शिरकत करेंगे। रघुनाथ की नगरी देवमयी हो गई है। वीरवार दोपहर तक 150 के करीब देवी-देवता…